Saturday, January 16News That Matters

Tag: LOCKDOWN

Business

How Rambo Circus Kept a ‘Dying Art’ and Hope Alive During COVID-19 Pandemic

"I was so anxious and excited the previous night, that I couldn't sleep a wink. It felt like a life-defining moment was ahead of me, and I would finally get back everything I had lost last year," he said. "My kids were thrilled when they heard my circus was reopening. But I only believed it after I saw the paint on my face, and the clown costume on my body," he added.Rambo Circus, which was forced to close down abruptly last March after a lockdown was announced to curb the coronavirus, reopened in January 2021 on the sector ten ground of Airoli, Mumbai and is currently doing daily shows. It is one of the few circuses in the country that has continued to do business online during the pandemic and opened shows this year. However, the last ten months had been incredibly difficult, and tumu...
Business

आसान हो रही इकनॉमी की राहें: FY22 का ग्रोथ एस्टीमेट IHS मार्किट ने बढ़ाकर 8.9% किया, दिसंबर में बढ़ी इकनॉमिक एक्टिविटी ने दी उम्मीदें

Hindi NewsBusinessIHS Markets Increase FY22 Growth Estimate To 8.9% On Increased Economic Activity In DecemberAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप15 मिनट पहलेकॉपी लिंकIHS के मुताबिक, इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन में सालाना आधार पर 3.6% बढ़ोतरी होने का संकेत दे रहे अक्टूबर के डेटाइंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने दिया मार्च क्वॉर्टर में ग्रोथ पॉजिटिव होने और FY2022 में 9.6% पर पहुंचने का अनुमानGDP ग्रोथ अप्रैल से शुरू हो रहे फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में 8.9% रह सकती है। IHS मार्किट ने शुक्रवार को यह अनुमान दिसंबर में इकनॉमिक एक्टिविटी अच्छी-खासी बढ़ने के चलते दिया। गुरुवार को राष्ट्रीय सांख्यिकी संगठन (NSO) ने मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में GDP ग्रोथ शून्य से 7.7% कम रहने का अनुमान दिया था। इस अनुमान के हिसाब से फाइनेंशियल ईयर 2021 जीडीपी ग्रोथ के लिहाज से पिछले चार दशक में...
Career and Education

जॉब ट्रेंड्स: कोरोना के बाद भी जारी रहेगा वर्चुअल इंटरव्यू का दौर, लॉकडाउन में 51 फीसदी स्टाफिंग प्रोफेशनल्स ने ऑनलाइन किया इंटरव्यू

Hindi NewsCareerVirtual Interview Will Continue Even After Corona, 51% Of Staffing Professionals In The Lockdown Did The Interview OnlineAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप21 मिनट पहलेकॉपी लिंकरिमोट जॉब्स के लिए ऑनलाइन इंटरव्यू से हो रही हायरिंग, वर्क फ्रॉम होम के लिए कैंडिडेट्स का अपस्किलिंग पर खास फोकसजॉबवाइट की एक रिसर्च के मुताबिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जॉब आउटरीच प्रोग्राम जैसे डिजिटल कम्युनिकेशन टूल्स का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहा है। इसके मुताबिक 58 फीसदी रिक्रूटर्स अब फेसबुक, लिंक्डइन जैसे सोशल मीडिया नेटवर्क्स का उपयोग कर रहे हैं। दरअसल, महामारी ने न सिर्फ काम के तमाम तौर तरीकों को बदला है, बल्कि नए एम्प्लॉइज की हायरिंग के लिए कई नए इनोवेटिव तरीकों को सामने रखा है।द स्टाफिंग स्ट्रीम डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार 500 रिक्रूटर्स पर किए गए एक सर्वे ...
Corona

UK Corona: लॉकडाउन के बीच ब्रिटेन में 9वें दिन सामने आए 50 हजार से ज्यादा केस, अबतक 77 हजार से ज्यादा की मौत

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. कोरोना के नए स्ट्रेन के कारण ब्रिटेन में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़े हैं. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के लॉकडाउन का ऐलान कर चुके हैं. कोरोना के नए स्ट्रेन को कंट्रोल करने की कोशिश में ब्रिटेन लगा हुआ है. दुनियाभर में ब्रिटेन दुनिया का पांचवा सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देश है.24 घंटे में 62 हजार से ज्यादा मामलेवर्ल्डोमीटर की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन में बीते 24 घंटों में 62 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मरीज आए हैं और एक हजार से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी. देश में अबतक 28 लाख 36 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और 77 हजार से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हुई है. ब्रिटेन मे पिछले नौ दिनों से लगातार कोरोना संक्रमण के 50 हजार से ज्यादा नए मामल...
India

कोरोना पर राहत की खबर: भारत 8 महीने बाद टॉप-10 संक्रमित देशों की लिस्ट से बाहर; अब सिर्फ 2.22 लाख मरीज बचे

Hindi NewsNationalIndia USA Russia; Coronavirus Cases Update | India Out Of Top Ten Most affected Countries List With Highest Number Of COVID CasesAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपनई दिल्ली13 मिनट पहलेकॉपी लिंककोरोना पर राहत की खबर है। भारत 8 महीने बाद दुनिया के टॉप-10 संक्रमित देशों की लिस्ट से बाहर हो गया है। यहां अब 2.22 लाख मरीज ऐसे हैं, जिनका इलाज चल रहा है। ऐसे ही मरीजों को एक्टिव केस कहा जाता है। बाकी एक करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 1 लाख 50 हजार 151 मरीजों की मौत हो चुकी है। मई में भारत टॉप-10 संक्रमित देशों की सूची में आया था। सितंबर तक दुनिया का दूसरा सबसे संक्रमित देश हो गया था।पूरी दुनिया में ऐसे एक्टिव केस की संख्या 2.34 करोड़ है। इनमें भारत के केवल 0.94% मरीज हैं। सबसे ज्यादा 35.67% एक्टिव केस अमेरिका में हैं। दूसरे नंबर पर फ्रांस है, जह...
Corona

फिल्म इंडस्ट्री छोड़ खरबूजे की खेती में किस्मत आजमा रहे ब्रजेश, लॉकडाउन में वापस लौटे हैं गांव

ब्रजेश बताते हैं कि उन्होंने हरियाणा से खरबूजे की बीज मंगवाई है और हरियाणा जाकर एक परिचित के यहां 'सुरंग-विधि' से खेती करने की तकनीकी जानकारी भी प्राप्त की है. Source link
Business

ईजी मनी का इफेक्ट: कोविड-19 की परेशानियों के बावजूद शेयर बाजार के आसमान छूने की वजह क्या है?

Hindi NewsBusinessWhy The Stock Market Skyrocketed Despite Bleak Economic Conditions Caused By Covid 19?Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप21 मिनट पहलेकॉपी लिंकजब आसानी से पैसा आता है तो शेयर जैसे रिस्की एसेट में निवेश बढ़ता हैब्याज दरें विश्व स्तर पर कम, इसका फायदा भारत जैसे विकासशील देशों कोकोविड-19 के बीच पब्लिक और कॉरपोरेट वर्ल्ड भले परेशान रहा हो, शेयर मार्केट आसमान छू रहा है। कोरोना के चलते देश में रोज औसतन 224 लोग मर रहे हैं और बेरोजगारी दर नवंबर में 7.8 पर्सेंट पर पहुंच गई थी। भारत जैसे विकासशील देश ही नहीं, अमेरिका जैसे विकसित देशों का भी कमोबेश ऐसा ही हाल है, जहां स्टॉक मार्केट नई ऊंचाइयों पर जा रहा है। ऐसे में किसी भी शख्स को हैरत होगी कि इकनॉमी के साथ ऐसा क्या चल रहा है जो तार्किक नजरिए को धता बता रहा है।कब से हुई भारतीय बाजार में हालिया तेजी...
India

नए साल में रतन टाटा की बात-2: देश की पुरानी तकनीकों में बड़ी संभावनाएं; कम संसाधन में बड़ा काम करना हमारी खासियत

Hindi NewsNationalGreat Possibilities In Our Old Techniques; It Is Our Specialty To Grow In Less ResourcesAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप5 मिनट पहलेरतन टाटा कहते हैं कि अगर भारत की युवा जनसंख्या को पूंजी का सपोर्ट मिल जाए तो बहुत कुछ हो सकता है।अब ऐसी कोई दीवार नहीं जो महिलाओं को रोक सकेभारतीय महिलाएं अब सिर्फ स्टाइल तक सीमित नहींटाटा ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस रतन टाटा को भारत की प्राचीन टेक्नोलॉजी पर काफी भरोसा है। उनका कहना है कि इस तकनीक में बहुत सी संभावनाएं हैं मगर, उनका इस्तेमाल करने वालों की कमी है। उनका कहना है कि महिलाओं की भागीदारी सिर्फ स्टाइल या स्टाइलिंग के क्षेत्र तक सीमित नहीं। अब ऐसी कोई दीवार नहीं जो महिलाओं को किसी भी क्षेत्र में बढ़ने से रोक सके।टाटा ने नए साल के मौके पर दैनिक भास्कर के रितेश शुक्ला से लंबी बातचीत में यह बातें कहीं।...
Business

2021 में प्रोफेसर अरुण का रिकवरी फॉर्मूला: शहरों में भी रोजगार गारंटी और पे प्रोटेक्शन प्लान के साथ हेल्थ पर ढाई गुना खर्च करे सरकार

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप41 मिनट पहलेकॉपी लिंकमैल्कम आदिशेषैया चेयर प्रोफेसर अरुण कुमार का कहना है कि डिमांड निकलने पर ही अर्थव्यवस्था पटरी पर आएगी।नया साल आ गया। कोरोना की वैक्सीन भी आने को है, मगर देश की अर्थव्यवस्था से लेकर बच्चों और नौजवानों की पढ़ाई तक। राजनीति से लेकर मनोरंजन तक। रियलिटी से लेकर एविएशन तक। तकरीबन सभी सेक्टरों में पेच फंसे हुए हैं। आम आदमी को चिंता है, अपनी नौकरी की। धंधे की। बच्चों की पढ़ाई की। और आगे बढ़ने के मौकों की। उन्हें चिंता है, ब्रिटेन से भारत पहुंचे कोरोना के नए स्ट्रेन की। डर है कि नया स्ट्रेन उन्हें दोबारा कोरोना के दौर में न धकेल दे। सभी के सामने यही सवाल हैं कि नए साल में ऐसे खास सेक्टर इन उलझनों से बाहर कैसे निकलेंगे ?ऐसे में भास्कर आज से सप्ताह भर तक रोज जाने-माने विशेषज्ञ के जरिए इन सेक्टरों का हाल, उनके ...
Business

तेज रिकवरी नाकाफी: इंडियन ऑनलाइन रिटेल सेक्टर की तरक्की अमेरिका और चीन से सुस्त रह सकती है

Hindi NewsBusinessIndian Online Retail Sector Growth May Be Slower Than The US And China In 2020Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप33 मिनट पहलेकॉपी लिंकइंडियन ई-कॉमर्स सेगमेंट की सेल्स ग्रोथ 2020 में सिर्फ 7-8 पर्सेंट रह सकती हैचीनी और अमेरिकी ऑनलाइन मार्केट्स 20 पर्सेंट की ग्रोथ हासिल कर सकते हैंइंडियन ऑनलाइन रिटेल सेक्टर ने 2020 में तरक्की तो की लेकिन उतनी नहीं जितनी वह पिछले दो साल से हासिल करता आया था। इसकी ग्रोथ अमेरिका और चीन जैसे मैच्योर मार्केट जितनी नहीं रही लेकिन लॉकडाउन उठने के बाद इसने तेजी से रिकवरी जरूर की। और तो और, इंडियन ई-कॉमर्स सेगमेंट ने इस फेस्टिव सीजन में इतनी ज्यादा सेल्स हासिल की, जितनी पहले कभी नहीं की थी।कितनी रह सकती है इंडियन ई-कॉमर्स सेगमेंट की सेल्स ग्रोथ?आंकड़ों में जाएं तो इंडियन ई-कॉमर्स सेगमेंट की सेल्स ग्रोथ इस साल सिर्...