Thursday, August 13News That Matters

Tag: ओरिजिनल समाचार

नेपाली लोग कहते हैं हमारे सैनिक राशन छीन लेते हैं, डांटते हैं कि भारत से क्यों खरीदकर लाए हो
India

नेपाली लोग कहते हैं हमारे सैनिक राशन छीन लेते हैं, डांटते हैं कि भारत से क्यों खरीदकर लाए हो

भारत के मधवापुर और नेपाल के मटिहानी के बीच की दूरी महज 20 मीटर, सड़क के एक तरफ भारतीयों का घर तो दूसरी तरफ नेपालियों कानेपाल के लोग पैसे जोड़ रहे हैं ताकि भारत में जमीन खरीद सकें, कहते हैं फिर घर बनाकर यहां की नागरिकता ले लेंगेफोर्स से बचने के लिए खेत के सहारे घरों तक पहुंचते हैं नेपाली, कहते हैं कई बार खेत के बीच में भी फोर्स वाले मिल जाते हैं, सौ-दो-सौ रुपए दे दो तो छोड़ देते हैं अक्षय बाजपेयीJul 15, 2020, 10:18 AM ISTमधवापुर-मटिहानी. जितना नजदीक किसी कॉलोनी में पड़ोसी रहते हैं, वैसे ही मधवापुर-मटिहानी में भारतीय और नेपाली लोग रहते हैं। मधवापुर भारत में आता है और मटिहानी नेपाल में। दोनों के बीच की दूरी महज 20 मीटर है। सड़क के एक सिरे पर नेपालियों के घर और दुकान हैं तो दूसरे पर भारतीयों के। एक ओर नेपाल की आर्म्ड फोर्स तैनात है तो दूसरी तरफ भारतीय सुरक्षा बल पहरा दे रहे होते हैं। ये मध...
जहां वो खड़े थे, वहीं मोर्टार आकर गिरा; घायल हुए, डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था, पैर गल चुका था, बाकी शरीर पर 40 से ज्यादा घाव थे
India

जहां वो खड़े थे, वहीं मोर्टार आकर गिरा; घायल हुए, डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था, पैर गल चुका था, बाकी शरीर पर 40 से ज्यादा घाव थे

दुश्मनों ने दो मोर्टार दागे, पहले से तो वे बच गए लेकिन दूसरा ठीक उनके बगल में 1.5 मीटर की दूरी पर आ गिरा, तेज धमाका हुआ, वे जमीन पर लेट गए।शरीर से खून के फव्वारे उड़ रहे थे, चार साथियों ने उन्हें गोलीबारी के बीच से एक सुरक्षित जगह पर पहुंचाया और ढाई घंटे बाद वो अखनूर के अस्पताल पहुंचेवो देश के पहले ब्लेड रनर बने, सोलो स्काई डाइविंग करने वाले एशिया के पहले दिव्यांग, चार बार लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज करा चुके हैं अपना नाम इंद्रभूषण मिश्रJul 15, 2020, 07:31 AM ISTनई दिल्ली. जीवन, जीवटता, जज्बा, जुनून, और जिंदगी यह सबकुछ जिस नाम से जुड़ा है, वो है मेजर देवेंद्र पाल सिंह उर्फ डीपी सिंह का। करगिल वॉर के योद्धा डीपी सिंह ने सीडीएस परीक्षा पास करने के बाद 1995 में इंडियन मिलिट्री एकेडमी ज्वाइन की। 1999 में जब वो करगिल युद्ध लड़ रहे थे, तो उम्र महज 25 साल थी। युद्ध में लड़ते हुए वो घायल हो ...
12 घंटे का सफर 6 घंटे में होगा पूरा; चीन सीमा तक पहुंचने में भारतीय फौज को होगी आसानी, 2021 तक काम पूरा करने का लक्ष्य
India

12 घंटे का सफर 6 घंटे में होगा पूरा; चीन सीमा तक पहुंचने में भारतीय फौज को होगी आसानी, 2021 तक काम पूरा करने का लक्ष्य

ऋषिकेश से गंगोत्री मार्ग पर चंबा में बनी 440 मीटर लंबी सुरंग का केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी उद्घाटन भी कर चुके हैंसीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने रिकॉर्ड समय में इस सुरंग को बनाया है, इसके निर्माण में ऑस्ट्रियन तकनीक का इस्तेमाल किया गया है हिमांशु घिल्डियालJul 15, 2020, 06:10 AM ISTदेहरादून. मनमीत रावत पिछले सप्ताह देहरादून से किसी काम से गोपेश्वर गए थे। वहां से उन्होंने बद्रीनाथ जाने का फैसला किया, लेकिन रास्ते में दर्जनों जगहों पर पहाड़ों को तोड़ा जा रहा है। इस वजह से 10-15 किलोमीटर के सफर के बाद उन्हें 10 मिनट के लिए रुकना पड़ता था। इससे उन्हें जोशीमठ पहुंचने में देर हो गई और वे उस दिन बद्रीनाथ नहीं जा सके। उनके जैसे कई ऐसे लोग हैं जिन्हें रात जोशीमठ में ही बितानी पड़ी।  ऋषिकेश से लेकर बद्रीनाथ के पास भारत के अंतिम गांव माणा तक 300 किमी लंबे मार्ग को चौड़ा करने के लिए पहाड़ों को काटन...
भारत ‘एंटी वुमन’ देशों की लिस्ट में टॉप पर, इस लिस्ट में अमेरिका और ज्यादातर मुस्लिम देश शामिल
India

भारत ‘एंटी वुमन’ देशों की लिस्ट में टॉप पर, इस लिस्ट में अमेरिका और ज्यादातर मुस्लिम देश शामिल

महिला नेताओं की ट्विटर पर ट्रोलिंग ज्यादा, हर दिन दहेज के लिए देश में 20 महिलाओं की हत्या होती हैलापता महिलाओं की संख्या हमारे देश में चीन के बाद सबसे ज्यादा, 50 साल में देश में 4.5 करोड़ से ज्यादा महिलाएं लापता हुईं दैनिक भास्करJul 15, 2020, 06:05 AM ISTनई दिल्ली. पिछले दिनों कॉमेडियन अग्रिमा जोशुआ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस वीडियो में अग्रिमा ने छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति के बारे में टिप्पणी की थी। ये वीडियो करीब सालभर पुराना था। इस वीडियो को लेकर अग्रिमा ने माफी भी मांगी। लेकिन, ये मामला यहीं नहीं रुका। गुजरात के वड़ोदरा के रहने वाले शुभम मिश्रा नाम के एक लड़के ने एक वीडियो पोस्ट कर अग्रिमा को न सिर्फ भद्दी गालियां दीं, बल्कि आपत्तिजनक बातें भी कहीं। इस पूरे मामले के बाद शुभम को वड़ोदरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।  लेकिन, इस पूरे मामले के बाद महिला सुरक्षा को ...
नेपाल के पीएम ओली के बयान से खफा राम जन्मभूमि के संतों ने बुद्धि शुद्धि यज्ञ शुरू किया, कहा- ओली मूर्ख हैं
India

नेपाल के पीएम ओली के बयान से खफा राम जन्मभूमि के संतों ने बुद्धि शुद्धि यज्ञ शुरू किया, कहा- ओली मूर्ख हैं

ओली का बयान दोनों देशों के सांस्कृतिक रिश्ते पर प्रहार है, जानकार बोले- राम हमारे संस्कार में हैं, गीतों में हैं, उनकी लोकमान्यताएं पहले से हैंसंतों ने कहा- माता जानकी की जन्मभूमि हमारे लिए पूज्य रही है, नेपाल और भारत के संबंधों को माओवादी किसी कीमत पर खत्म नहीं कर पाएंगे रवि श्रीवास्तवJul 14, 2020, 06:54 PM ISTअयोध्या. अयोध्या एक बार फिर विचलित है। इस बार कारण है नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली का भगवान श्रीराम पर दिया गया बयान। सरयू तट पर ज्यादा भीड़ नहीं है, लेकिन जो लोग मौजूद हैं, उनकी जुबान पर नेपाल को लेकर नाराजगी है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास महाराज के मुताबिक, भारत और नेपाल के संबंधों को नेपाल के प्रधानमंत्री ओली खत्म कर रहे हैं। चीन जैसे कपटी देश का दोस्त बनकर भारत के भाईवाले रिश्ते ठोकर मार रहे हैं। ओली का बयान उनकी कुंठित और भ...
लोग हर पूर्णिमा पर नेपाल जाते थे, शादी-मुंडन भी वहीं होता था; पर अब डर से बॉर्डर के पास जाने की हिम्मत भी नहीं हो रही
India

लोग हर पूर्णिमा पर नेपाल जाते थे, शादी-मुंडन भी वहीं होता था; पर अब डर से बॉर्डर के पास जाने की हिम्मत भी नहीं हो रही

लालबंदी के लोगों में खौफ, यहां के हर दूसरे घर में है नेपाल की बेटी, बोले- पहली बार पता चला बॉर्डर का मतलब क्या होता हैगांव के 23 साल के युवक को उसके ही खेत में नेपाली पुलिस ने मार दी थी गोली, पत्नी 6 माह की गर्भवती है, दिन-रात रोती हैगांववाले बोले, हम मधेशी हैं और ओली पहाड़ी इसलिए वो हमारे साथ ऐसा कर रहा है अक्षय बाजपेयीJul 14, 2020, 06:07 AM ISTलालबंदी. हर पूर्णिमा पर लालबंदी जानकीनगर गांव के लोग नेपाल के जनकपुर धाम जाया करते थे। खास तौर पर बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे। यहां के गांववालों को तो याद भी नहीं कि कितने साल से यह परंपरा चली आ रही थी। हफ्तेभर पहले पूर्णिमा पर कोई भी शख्स नेपाल जाने की हिम्मत नहीं कर सका। उन्हें डर है कि कहीं वहां जाएं और नेपाल के सुरक्षा जवान उन पर गोली चला दें। गांव की सदियों पुरानी परंपरा टूट गई। ये वही जगह है, जहां लालबंदी गांव के युवकों पर नेपाली की आर्मी ...
मशहूर 56 दुकान की रौनक अनलॉक के बाद भी नहीं लौटी, हर दिन 25 लाख रुपए का होता था बिजनेस
India

मशहूर 56 दुकान की रौनक अनलॉक के बाद भी नहीं लौटी, हर दिन 25 लाख रुपए का होता था बिजनेस

अनलॉक में यहां की 56 दुकान को खोलने की इजाजत दे दी गई है, लेकिन सिर्फ पार्सल सुविधाएं ही शुरू हैं, अभी बहुत कम लोग ऑर्डर कर रहे हैंगुलाब जामुन, काला जामुन, शाही रबड़ी, कलाकन्द, मूंग का हलवा, मालपुए, मावा बाटी, बासुंदी, श्रीखण्ड जैसे फूड्स के लिए मशहूर है यह मार्केट राजीव कुमार तिवारीJul 14, 2020, 05:40 AM ISTइंदौर. इंदौर... यहां पोहे-जलेबी के साथ दिन की शुरुआत होती है और देर रात सराफा और 56 दुकान की रबड़ी और कुल्फी खाने के बाद ही लोगों का दिन पूरा होता है। सुबह से लेकर देर रात तक चहल-पहल से भरे रहने वाले मार्केट में अभी इक्का-दुक्का लोग ही नजर आ रहे हैं। यहां की रफ्तार पर कोरोना ने ब्रेक लगा दिया है। इंदौर में रीगल चौराहा, राजश्री हॉस्पिटल के सामने, अन्नापूर्णा मंदिर के सामने, आईटी पार्क के सामने कई जगहों पर रात में करीब 600 खाने-पीने की दुकानें लगती थीं। लॉकडाउन में यहां हर दिन 8 से 10...
विधानसभा चुनाव से 9 महीने पहले वर्चुअल रैलियां शुरू, चर्चा है कि दीदी-दादा के मन की होगी; दीदी यानी ममता और दादा यानी दबंग
India

विधानसभा चुनाव से 9 महीने पहले वर्चुअल रैलियां शुरू, चर्चा है कि दीदी-दादा के मन की होगी; दीदी यानी ममता और दादा यानी दबंग

भाजपा रोज 5 लाख पर्चे बांट रही है, लक्ष्य 1 करोड़ घरों तक पहुंचने का, अब तक 80 लाख घरों तक पर्चा पहुंचाजाति के नाम पर नहीं, मोहल्लो-टोलों के लोग पार्टियों के नाम पर बंटे, खुलेआम कहते हैं कि इस पार्टी को सपोर्ट है दैनिक भास्करJul 14, 2020, 05:40 AM ISTकोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव अगले साल होना है। लेकिन, राजनीतिक सरगर्मी अभी से शुरू हो गई है। कोलकाता में ‘बांग्लार गर्बो ममता' के पोस्टर टंगे हैं। वर्चुअल रैलियों का दौर शुरू है। डोर-टू-डोर संपर्क के तहत पर्चे बांटे जा रहे हैं। भाजपा केंद्र सरकार की उपलब्धियों को लेकर रोज साढ़े चार- पांच लाख पर्चे बांट रही है। टारगेट 1 करोड़ घरों तक पहुंचने का है। शनिवार तक 80 लाख घरों तक पर्चा बांटा जा चुका है। यहां सबकुछ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दोनों के ऊपर ‘माता' (मेरा आदमी, तेरा आदमी) के इर्द-गिर्द तेजी से घूमने...
इसी वजह से देशभर में 12 हजार पुलिस वाले संक्रमित, 46% अकेले महाराष्ट्र में; 102 की मौत हुई
India

इसी वजह से देशभर में 12 हजार पुलिस वाले संक्रमित, 46% अकेले महाराष्ट्र में; 102 की मौत हुई

देशभर में जितने पुलिसकर्मी संक्रमित हैं, उनमें से 80% जवान महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु केबीएसएफ के 1659 और सीआरपीएफ के 1594 जवान कोरोना संक्रमित, 14 जवानों ने दम तोड़ा दैनिक भास्करJul 14, 2020, 05:40 AM ISTनई दिल्ली. कोरोनाकाल में पुलिसकर्मी कई मोर्चों पर डटे हुए हैं। लॉकडाउन के समय पुलिसकर्मी सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवाने में जुटे थे। कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की पहचान का काम भी यही कर रहे हैं। चेक पॉइंट्स पर लोगों की चेकिंग के साथ-साथ अस्पताल, क्वारैंटाइन सेंटर और कंटेनमेंट जोन जैसी जोखिम वाली जगहों पर भी पुलिसकर्मी सुरक्षा में खड़े हैं। कोरोनाकाल में पुलिस की छवि पूरी तरह बदल गई। लेकिन, यही पुलिस जो हमारी सुरक्षा में लगी है, वो भी कोरोना का शिकार हो रही है। इंडियन पुलिस फाउंडेशन के डेटा के मुताबिक, 12 जुलाई तक देशभर में 12 हजार 887 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव आ चुके...
करगिल शहीदों के लिखे चुनिंदा आखिरी खत, जो शहादत के बाद उनके तिरंगे में लिपटे शव के साथ ही उनके घर पहुंचे
India

करगिल शहीदों के लिखे चुनिंदा आखिरी खत, जो शहादत के बाद उनके तिरंगे में लिपटे शव के साथ ही उनके घर पहुंचे

कैप्टन विक्रम बत्रा का आखिरी खत, हमारी सेना शानदार काम कर रही है, सैनिक पाकिस्तानियों के पीछे पड़े हैं और उन्हें जमकर खदेड़ रहे हैं, तुम टेंशन मत लोकैप्टन मनोज पांडे का दोस्त को लिखा हुआ खत- चार बार मौत का सामना कर चुका हूं, अच्छे कर्म हैं इसलिए जिंदा हूं दैनिक भास्करJul 13, 2020, 07:50 AM ISTनई दिल्ली. करगिल युद्ध को ठीक 21 साल हो चुके हैं। वो युद्ध जिसमें हमने अपने 530 सैनिकों को खोया। शहादत से पहले, 18 हजार फीट ऊंचाई, माइनस 13 डिग्री की कड़कड़ाती ठंड और भयंकर गोलीबारी के बीच सैनिकों ने अपनों को जो चिटि्ठयां लिखीं, उनमें से कुछ चिटि्ठयां तिरंगे में लिपटे उनके शव के साथ पहुंचीं तो कुछ शहादत के कई दिनों बाद। युद्धक्षेत्र में जज्बा जिंदा रखने के लिए चिटि्ठयां ही सहारा थीं। करगिल, बटालिक और द्रास में सेना के पोस्टल सर्विस कोर ने म्यूल मेल यानी खच्चर के जरिये सैनिकों को पत्र पहुंचाए। ऊंची पो...