Saturday, February 27News That Matters

Corona

Corona

कोरोना गाइडलाइंस 31 मार्च तक बढ़ी, सरकार ने सभी राज्यों को सावधानी बरतने की सलाह दी

कोरोना महामारी से बचाव के लिए 27 जनवरी को जारी दिशानिर्देश को अब 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया है. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर निगरानी, सतर्कता बनाए रखने की अपील की है. Source link
Corona

IPL 2021: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई BCCI की चिंता, आईपीएल के आयोजन में खड़ी हुई मुश्किल

IPL 2021: देशभर में पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस के मामलों में एक बार फिर से तेजी देखने को मिली है. इसी वजह से बीसीसीआई को आईपीएल का आयोजन करवाने के अपने प्लान पर दोबारा विचार करने को मजबूर होना पड़ा है. Source link
Corona

अब कोरोना टीके के लिए ‘ऑन-साइट’ पंजीकरण करा सकेंगे लोग, स्वास्थ्य सचिव ने की समीक्षा बैठक

एक मार्च से शुरू होने जा रहे कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण के लिए आज केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, एम्पोवेरेड ग्रुप ऑन वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन COWIN  के अध्यक्ष आर एस शर्मा ने राज्यों और केंद्र शाषित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिये बैठक की. इस बैठक में नए COWIN 2.0, वैक्सीनेशन की प्रक्रिया और अस्पताल के चयन के बारे में राज्यों को जानकारी दी.राज्यों और केंद्र शाषित प्रदेशों को डिजिटल प्लेटफॉर्म CO-Win के वर्जन 2.0 के बेसिक फीचर्स के बारे में बताया गया, जो कि कई हजारों एंट्रीज को प्रोसेस करने की क्षमता रखता है. इस चरण में मूलभूत बदलाव ये है कि चिन्हित आयु वर्ग के नागरिकों के साथ-साथ उन हैल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर जो वर्तमान वैक्सीनेशन ड्राइव से छूट गए हैं या रह गए हैं वो भी अपने टीकाकरण केंद्रों का चयन कर सकते हैं. वहीं निजी अस्पतालों ...
Corona

दिल्ली में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में हुआ इजाफा, गुरुवार को 220 नए मामले आए सामने

राजधानी दिल्ली में एक बार फिर कोरोना संक्रमण जोर पकड़ने लगा है. बीते दिन कोरोना के 220 नए मामले दर्ज किए गए हैं. वहीं विशेषज्ञों ने अलर्ट जारी कर दिया है कि राजधानी ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए खास ध्यान देने की जरूरत है. एक्सपर्ट्स की राय के मुताबिक कोविड 19 के न्यू क्लस्टर की पहचान के लिए हाई अलर्ट पर रहने की जरूरत है. Source link ...
Corona

कोविड महामारी का भयावह सच, देश के 37 करोड़ बच्चों को दशकों तक भूख, कुपोषण, अशिक्षा का सामना करना होगा

सीएसई की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के कारण भारत में 37.5 करोड़ बच्चों को भूख, कुपोषण, अशिक्षा और कई अनेदेखी परशानियों का सामना करना होगा. इसका प्रभाव कई दशकों तक दिखाई देगा. Source link
Corona

अमेरिकी या भारतीयों में से कोविड-19 से मौत का किसे ज्यादा है खौफ? जानिए सर्वे के नतीजे

कोविड-19 महामारी अब तक करीब 2.5 मिलियन लोगों की जान ले चुकी है और लाखों लोगों को दुनिया भर में संक्रमित कर दिया है. ये संख्या आपके रोंगटे खड़े कर सकती है और आप अपनी जिंदगी के बारे में चिंता करने लगते हैं. लेकिन अगर आप अमेरिकी हैं, तो आप उतना ज्यादा नहीं डर सकते. एक रिसर्च से खुलासा हुआ है कि अमेरिकियों को कोविड-19 से मौत का कम खौफ है.क्या भारतीयों को कोविड-19 की मौत का ज्यादा है डर? सर्वेक्षण को नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी और ओहियो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता कर रहे हैं. दिसंबर 2020 से एक हजार अमेरिकियों का रिसर्च के तौर पर मासिक सर्वे किया जाता है, जिससे जनता के कोविड-19 टीकाकरण, उसके जोखिम बोध, नीति वरीयताएं और एहतियाती स्वास्थ्य व्यवहार के प्रति रवैया को समझा जा सके. सर्वे में लोगों से सवाल पूछने का सिलसिला जून 2021 तक जारी रहेगा. सर्वेक्षण के मुताबिक, दिसंबर में अमेरिक...
Corona

Elizabeth II ने कोविड 19 वैक्सीन को लेकर लोगों से की अपील- डरने की जरूरत नहीं है, लगवाना है बहुत आसान

लंदन: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ( Elizabeth II) ने  देशवासियों से अपील की हैं कि वे कोविड-19 का टीका लगवाने से घबराए नहीं. उन्होंने कहा कि जो लोग वैक्सीन लेने से डर रहे हैं, वे एक बार दूसरों के बारे में जरूर सोचें. उन्होंने कहा कि टीका लगवाने से किसी तरह का नुकसान नहीं है. 94 वर्षीय महारानी को उनके पति प्रिंस फिलिप के साथ जनवरी में कोविड-19 की वैक्सीन दी गई थी. वैक्सीन लगवाने के बाद महारानी ने कहा था कि वे अब सुरक्षित महसूस कर रही हैं. महारानी ने कहा, हालांकि सब कुछ जल्दबाजी में हो गया लेकिन टीका लगाना सचमुच बहुत ही आसान था. मेरे पास लोगों के कई ऐसे पत्र आए हैं जिनमें उन्होंने कहा है कि टीका लगाना इतना आसान था कि इससे वे हैरान हैं.महारानी ने कहा, एक बार जब आप टीका लगा लेते हैं तो आप बिल्कुल सुकून महसूस करते हैं. तब आप सुरक्षित हो जाते हैं. यह उन लोगों के लि...
Corona

अगर आपने वैक्सीन के लिए App पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया तो क्या टीका नहीं लगेगा? जानिए- जवाब

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस टीकाकरण का दूसरा चरण एक मार्च से शुरू हो रहा है. इस चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और किसी भी बीमारी से पीड़ित 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. बड़ी बात यह है कि इन लोगों को वैक्सीन के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा. टीकाकरण सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ कुछ चुनिंदा अस्पतालों में भी होगा. इसके लिए सोमवार से कोविड प्लेटफॉर्म्स पर लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे. सरकार ने टीकाकरण के लिए 10 हजार सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों को चिन्हित किया है, जहां मुफ्त में वैक्सीन लगाई जाएगी. इसके अलावा लोग खरीदकर भी वैक्सीन लगवा सकेंगे.अगर नहीं कराया रजिस्ट्रेशन तो क्या लगेगा टीका?टीकाकरण को लेकर इस वक्त जो सबसे बड़ा सवाल है वो है कि क्या जो लोग रजिस्ट्रेशन नहीं कराएंगे, उनको टीका नहीं लगेगा? बताया जा रहा है कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन...
Corona

बांग्लादेश ने सबसे बड़े वेश्यालय के सेक्स वर्कर्स को कोविड-19 वैक्सीन लगाना शुरू किया

बांग्लादेश की सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण अभियान के बीच बड़ी पहल की है. उसने देश के सबसे बड़े वेश्यालय के सेक्स वर्कर्स को कोविड-19 वैक्सीन लगाना शुरू कर दिया है. दक्षिण एशियाई देश 40 साल से ज्यादा अब तक करीब 3 मिलियन लोगों को एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लगवा चुका है, लेकिन दौलतदिया शहर में सेक्स वर्कर्स के लिए उम्र की रुकावट को खत्म कर दिया गया है.सेक्स वर्कर्स को कोविड-19 की लगाई जा रही वैक्सीन दौलतदिया के स्वास्थ्य प्रमुख आसिफ महमूद ने कहा, "कम से कम 100 सेक्स वर्कर्स ने पहले ही कोविड-19 का इस्तेमाल कर लिया है. ये बहुत जरूरी है कि सेक्स वर्कर्स का टीकाकरण किया जाए...हजारों लोग वेश्यालय आते हैं और बड़े वेश्यालय के सेक्स वर्कर्स को वायरस का सबसे ज्यादा खतरा है." बांग्लादेश की सरकार ने बुजुर्गों, स्वास्थ्य कर्मियों और सुरक्षा बलों को टीकाकरण अभियान की शुरुआत में प्राथमिकत...
Corona

महाराष्ट्र में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 8 हजार से ज्यादा नए मामले, वाशिम के एक स्कूल में 229 छात्र पॉजिटिव

देश में कोरोना के खतरे को लोग भूलने लगे है. इसमें सबसे आगे है महाराष्ट्र. यहां पिछले एक हफ्ते से लगातार कोरोना के मामले हर दिन बढ़ रहे हैं. ये चिंता का बड़ा कारण है. Source link